रिया क्यों बनी सुशांत की कंपनी में भाई के साथ पार्टनर? रिया ने बताई ये …..

सुशांत सिंह राजपूत.. ये नाम हर किसी के जुबान से उतर ही नहीं रहा है, क्योंकि सुसाइड और मर्डर के बीच सुशांत की “डेथ मिस्ट्री” उलझी हुई है। इस केस में सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर कई आरोप लग रहे हैं।

हर दिन एक नया खुलासा सामने आ रहा है, हर किसी को आस है कि जल्द से जल्द सुशांत को इंसाफ मिले। हाल ही में आजतक की टीम से रिया ने बात की जिसमें रिया ने बताया कि वो क्यों सुशांत के साथ कंपनी में हिस्सेदार बनी। इसपर रिया चक्रवर्ती का कहना है कि जब वो दोनों यूरोप टूर पर जा रहे थे तो उससे पहले सुशांत ने एक कंपनी बनाई थी, जिसका नाम था Rhealityx रखा गया था। इस कंपनी के लिए रिया यानि मैंने और मेरे भाई शोविक चक्रवर्ती ने पैसे दिए थे।

इसके बाद रिया चक्रवर्ती ने कहा कि सुशांत मुझे लाइक करता था, इसलिए  सुशांत ने मुझे अपनी ड्रीम कंपनी से मुझे जोड़ा। अब आगे जाकर मुझ पर आरोप लग सकता है कि मैंने जबरदस्ती कंपनी में अपना नाम जुड़वाया होगा। खैर इस कंपनी में मैं, सुशांत और मेरा भाई शोविक चक्रवर्ती हम तीनों बराबर के पार्टनर हैं और पार्टनर बनने के लिए हम तीनों लोगों ने अपने अकाउंट से 33-33 हजार रुपय दिए थे।

वहीं रिया ने आजतक से बात करते हुए ये भी कहा कि मेरे भाई की तरफ से 33 हजार रुपय मैंने उसे भेजे, ताकि वह भर सके, क्योंकि वह जॉब में नहीं था। इसके अलावा इस कंपनी में कोई ट्रांसजेक्शन नहीं हुआ है। यूरोप टूर के दौरान सुशांत सिंह राजपूत के कहने पर इटली में मेरे भाई ने हमें ज्वॉइन किया। मेरे पास इसका सबूत भी हैं।

इसके साथ ही रिया ने बताया कि सुशांत के पैसे पर ऐश करने के सवाल पर मैं साफ़ करना चाहती हूं कि मुझे पेरिस के एक फैशन शो में बुलाया गया था, मेरी टिकट पहले से बुक थीं। लेकिन सुशांत ने सभी टिकट कैंसिल की और अपनी ओर से टिकट बुक कर पूरी ट्रिप प्लान की। सुशांत हमेशा से ही किंग की तरह जीता था। इससे पहले सुशांत थाईलैंड की ट्रिप पर गया था जहां उसने 70 लाख रुपये खर्च किए थे।

loading...

Check Also

सीएम कैंडिडेट रहे नीतीश अब बोले- मेरा कोई दावा नहीं, कल NDA की बैठक में मुख्यमंत्री पर फैसला

बिहार चुनाव के नतीजों के बाद पहली बार गुरुवार शाम को सीएम नीतीश कुमार मीडिया …

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *